8 सितंबर को मनाया जा रहा है ओणम, जानिए दक्षिण भारत के ओणम त्योहार को

दक्षिण भारत में रहने वाले लोग ओणम के त्यौहार को बड़े धूमधाम से मनाते हैं। 2022 में ओणम का त्यौहार 8 सितंबर को मनाया जा रहा है। वहां के लोग इस त्यौहार को लेकर हर साल बहुत उत्साहित रहते हैं। दक्षिण भारत के लोगों के लिए ओणम एक महत्वपूर्ण त्यौहार है।

वैसे मलयालम भाषा में इसे थिरुवोणम कहा जाता है। दक्षिण भारत के लोग इस दिन प्रीतिभोज के साथ नाचते और गाते भी हैं। वहां के लोगों के मन में ऐसी आस्था है कि पाताल लोक से राजा महाबली इन दिनों सभी को आशीर्वाद देते हैं। थिरु और ओणम शब्दों के मेल से थिरुवोणम बना है। थिरु शब्द का अर्थ ही पवित्र होता है। थिरु शब्द संस्कृत भाषा के ‘श्री’ के तुल्य माना गया है।

ये भी पढ़े : आने वाला है मां दुर्गा का सबसे बड़ा त्यौहार, जानें इस बार क्या होगा खास

ओणम का त्योहार दक्षिण भारत में पूरे 10 दिन तक मनाया जाता है। यहां हर दिन का एक विशेष महत्व होता है। केरल के लोग इस त्योहार के लिए काफी आयोजन करते हैं। थिरुवोणम को लेकर काफी आस्थाएं और मान्यताएं जुड़ी हुई है।

इन दिनों राजा महाबली सभी को आशीर्वाद देते हैं। बात करें अगर मलयालम कैलेंडर की तो, चिंगम महीने में श्रावण या थिरुवोणम नक्षत्र के प्रबल होने पर थिरु ओणम का पूजा किया जाता है।

10 दिन तक चलने वाले इस त्यौहार का अंतिम दिन काफी महत्वपूर्ण होता है।

10 दिन तक चलने वाला यह ओणम का त्योहार में सरकारी अवकाश भी होता है।

मलयालम कैलेंडर में ओणम के माह चिंगम कहते है। मलयालम कैलेंडर के अनुसार यह उनके लिए साल का पहला महीना होता है।

अगर बात करें हिंदू कैलेंडर की तो चिंगम का महीना अगस्त या सितंबर में आता है। सभी घरों में बहुत अच्छे और स्वादिष्ट पकवान बनाते है। अंतिम दिन काफी खास होता है जिस में सभी लोग सुबह उठकर नहाकर मिलते हैं।

जीवन में होने वाली सभी मुख्य तथ्यों को जानने के लिए हमारे YouTube Channel Life Active को Subscribe करें, साथ ही आप हमारे InstagramFacebookTwitter को भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *